Vitamin B Kisme Paya Jata Hai, Vitamin B in Hindi
Benefits Side Effects

विटामिन बी के स्रोत, फायदे और नुकसान | Vitamin B in Hindi

Vitamin B in Hindi (विटामिन बी वाले खाद्य पदार्थ) – विटामिन बी 8 वसा में घुलनशील विटामिंस का समूह है जो सेलुलर मेटाबोलिज्‍म (ये रासायनिक प्रतिक्रियाओं का समूह है जीवित रहने के लिए जीवों में होता है) में अहम भूमिका निभाता है. ये रासायनिक और जैविक रूप से एक-दूसरे से भिन्न होते हैं, परन्तु बहुत से खाद्य पदार्थों में ये एक साथ पाए जाते हैं. इन सभी विटामिंस का कार्य, प्रभाव और दुष्‍प्रभाव अलग होते हैं और इसलिए इसकी खुराक और कमी होने का असर भी अलग होता है. आज इस लेख के जरिये हम आपको विटामिंस के प्रकारों और इसके फायदे और नुकसान के बारे में बताने वाले है. Vitamin B Foods List in Hindi

Vitamin B Kisme Paya Jata Hai, Vitamin B in Hindi

विटामिन बी की कमी से होने वाले रोग | Vitamin B Deficiency Diseases in Hindi

विटामिन बी1 की कमी से होने वाली बीमारी – आंखो मे अंधेरा छा जाना, बेरी बेरी, चक्कर आना, एकाग्रता खो जाना, चिड़चिड़ापन, कब्ज की समस्या आदि.

विटामिन बी2 की कमी से होने वाली बीमारी – जीभ की परेशानी, आंखों के रोग, होठ तथा मुँह फटना आदि.

विटामिन बी3 की कमी से होने वाली बीमारी – सिरदर्द, थकान, कमजोरी, तनाव, बालों का रंग सलेटी होना, शरीर की वृद्धि रुकना आदि.

विटामिन बी5 की कमी से होने वाली बीमारी – पेलेग्रा, वजन में कमी आदि.

विटामिन बी6 की कमी से होने वाली बीमारी – हीमोग्लोबिन की कमी, त्वचा से जुड़ी परेशानियां आदि.

विटामिन बी7 की कमी से होने वाली बीमारी – डिप्रेशन, थकान, कमजोरी आदि.

विटामिन बी9 की कमी से होने वाली बीमारी – खून की कमी होना आदि.

विटामिन बी12 की कमी से होने वाली बीमारी – एनीमिया, सर्दी, डिप्रेशन, तनाव, थकान और दिमाग कमजोर होना आदि.

यह भी पढ़ें : इन 6 चीजों में होता है सबसे ज्यादा विटामिन ई

विटामिन बी किसमें पाया जाता है | Vitamin B Kisme Paya Jata Hai

Vitamin B Foods and Fruits in Hindi विटामिन बी समूह के भिन्न-भिन्न स्रोत होते है.

Vitamin B1 – संतरे, गेहू, खमीर, अंडे, हरे मटर, मूंगफली, अंकुर वाले बीज, चावल आदि विटामिन बी 1 के स्रोत है.

Vitamin B2 – चावल, मटर, मछली, दाल, अंडे की जर्दी विटामिन बी 2 का स्रोत है.

Vitamin B3 – मेवा, दूध, अंडे की जर्दी और अखरोट विटामिन बी 3 का स्रोत है.

Vitamin B5 – दाल, दूध, पिस्ता, खमीर, मक्खन विटामिन बी 5 का स्रोत है.

Vitamin B6 – चावल, खमीर, गेहूं, मटर, अंडे की जर्दी और मछली विटामिन बी 6 का स्रोत है.

Vitamin B7 – सोयाबीन, मैदा, गेहूं, चावल, बाजरा, ज्वार विटामिन बी 7 का स्रोत है.

Vitamin B9 – मटर, दलिया, अंकुरित अनाज, मूंगफली विटामिन बी 9 का स्रोत है.

Vitamin B12 – मांस, मछली, अंडेविटामिन बी 12 का स्रोत है.

विटामिन बी कॉम्प्लेक्स के फायदे | Vitamin B Ke Fayde

विटामिन बी हमारे शरीर के लिए जरुरी है. इसकी मदद से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है. विटामिन बी त्वचा को चमकदार बनाने और स्वस्थ रखने में सहायता करता है. विटामिन बी का उपयोग मुंह, नेत्र और जीभ के लिए बहुत जरूरी है. विटामिन बी हमारे शरीर को जीवाणुओं से लड़ने की शक्ति देता है. यह हमारी बॉडी के मेटाबोलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है तथा तंत्रिका, हड्डियां, उत्तक और मांसपेशियों को स्वस्थ रखने में सहायता करता है. यह हमारी बॉडी के पोषक तत्वों को एनर्जी में बदलने में सहायता करता है. इस विटामिन के उपयोग से हमारे शरीर की कोशिकाओं में पाए जाने वाले जीन डीएनए का निर्माण तथा मरम्मत करने में मदद करता है.

ज्यादा मात्रा में विटामिन बी लेने के नुकसान | Vitamin B Complex Side Effects in Hindi

Vitamin B1 – विटामिन B1 का ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करना शरीर के लिए नुकसानदायक होता है. ज्यादा मात्रा में इसके इस्तेमाल से त्वचा में एलर्जी, होठों का नीला पड़ना, नींद न आना, सीने में दर्द की समस्या हो सकती है.तथा प्रेग्नेंट महिला और गर्भ में पल रहे शिशु के दिमाग पर भी बुरा असर पड़ता है.

Vitamin B3 – विटामिन B3 का भी ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करना शरीर के लिए नुकसानदायक होता है. इसके ज्यादा इस्तेमाल से पेप्टिक अल्सर, लिवर को नुकसान पहुंचने और स्किन पर रैशेज जैसी समस्या हो सकती है.

Vitamin B6 – विटामिन B6 का भी ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करना शरीर के लिए हानिकारक होता है. इसके ज्यादा उपयोग से पेट में अकड़न की समस्या हो सकती है.

Vitamin B12 – विटामिन बी12 का ज्यादा उपयोग करने से त्वचा पर खुजली, सिरदर्द, चक्कर आना जैसी समस्याएं हो सकती है. विटामिन बी12 का ज्यादा उपयोग प्रेग्नेंट महिला के लिए अच्छा नहीं होता है.

admin
myhealthhindi.com पर दी हुई संपूर्ण जानकारी केवल पाठकों की जानकारी के लिए दी गयी हैं। इस स्वास्थ्य से सम्बंधित ब्लॉग का उद्देश आपको स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और स्वास्थ्य से जुडी जानकारी प्रदान करना हैं। हमारा आपसे निवेदन हैं की किसी भी सलाह को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *