Treatment of Cataract Without Surgery in Hindi | मोतियाबिंद का इलाज

Treatment of Cataract in Hindi, Motiyabind Ka Ilaj

Treatment of Cataract Without Surgery in Hindi (मोतियाबिंद का इलाज) – हमारी आंखें हमारे लिए कितनी जरुरी है ये तो हम सब लोग जानते ही है. बिना आंखों के हम अपने आस-पास की खूबसूरती को नहीं देख सकते है. लेकिन वही अगर आप अपनी आँखों की सही से देखभाल नहीं करते है तो आपको आँखों से जुडी समस्या का सामना करना पड़ सकता है.

अगर मोतियाबिंद की शुरुआत है तो आप कुछ घरेलू उपाय अपनाकर इससे छुटकारा पा सकते है लेकिन अगर इसे ज्यादा समय हो गया है तो इसको सर्जरी के जरिये हटाया जाता है. इस लेख के जरिये हम आपको मोतियाबिंद का इलाज के घरेलू नुस्खे बताने वाले है. Treatment of Cataract in Hindi

Treatment of Cataract in Hindi, Motiyabind Ka Ilaj

मोतियाबिंद क्या है | What is Cataract in Hindi

मोतियाबिंद आंखों से जुड़ी हुई एक गंभीर समस्या है. मोतियाबिंद में आंखों के लेंस में धब्बे आने के कारण चीज़ें धुंधली दिखने लगती है.

मोतियाबिंद के प्रकार | Types of Cataract in Hindi

मोतियाबिंद दो प्रकार के होते है एक कड़ा और दूसरा कोमल. कड़ा मोतियाबिन्द पीले रंग का होता है और ये ज्यादातर बुढ़ापे में होता है. वही कोमल मोतियाबिन्द नीले रंग का होता है जोकि बचपन से लेकर लगभग 35 साल की उम्र तक के लोगो को होता है.

मोतियाबिंद के कारण | Cataract Causes in Hindi

मधुमेह (Diabetes Causes Cataract in Hindi) – मधुमेह से पीड़ित लोगो को मोतियाबिंद का खतरा ज्यादा रहता है मधुमेह हमारे दिल और गुर्दे के साथ-साथ हमारी आँखों के लिए भी खतरनाक है

यह भी पढ़ें : इन लक्षणों के दिखने पर जरूर कराए डायबिटीज की जांच

पराबैगनी किरण (Ultraviolet Ray Causes Cataracts in Hindi) – असुरक्षित तरीके से पराबैंगनी किरण के संपर्क में आने से मोतियाबिंद का खतरा बढ़ जाता है.

धूम्रपान और शराब (Smoking and Alcohol Causes Cataracts in Hindi) – धूम्रपान और शराब का ज्यादा सेवन भी मोतियाबिंद को बढ़ावा दे सकता है.

यह भी पढ़ें : सिगरेट की लत से छुटकारा पाने के आसान तरीके

मोतियाबिंद के अन्य कारण – पहले कभी आँख की सर्जरी, मोटापा, उच्च रक्तचाप, आनुवांशिक कारण आदि.

मोतियाबिंद के लक्षण | Cataract Symptoms in Hindi

धुंधलापन (Blurred or Dim Vision) – मोतियाबिंद का सबसे आम लक्षण धुंधला दिखाई देना है जैसे-जैसे मोतियाबिन्द बगड़ता जाता है वैसे-वैसे रेटिना तक कम प्रकाश पहुंचता है. जिन लोगो को मोतियाबिंद की शिकायत होती है उनको रात में देखने तथा गाडी चलाने में परेशानी होती है.

यह भी पढ़ें : आंख लाल होने के कारण तथा इलाज

रंग सही से न दिखना (Fading Colors) – मोतियाबिंद होने की वजह से आपको कुछ रंग हलके दिखने लगते है जैसे बैंगनी और नीले रंग में फर्क करना मुश्किल हो जाता है. शुरुआत के समय आपको शायद पता न लगे लेकिन समय के साथ-साथ आपको ये लक्षण प्रभावित कर सकते है.

यह भी पढ़ें : आँखों की देखभाल कैसे करे

आँखों के नंबर में बदलाव (Frequent Changes in Eyeglass or Contact Lens) – अगर आपके चश्मे के नंबर में बार-बार बदलाव आ रहे है तो ये भी मोतियाबिंद का संकेत हो सकता है ऐसे में आप अपनी आँखों की जाँच करवाये.

यह भी पढ़ें : आँखों की रोशनी बढ़ाने के तरीके

मोतियाबिंद के इलाज के घरेलू नुस्खे | Home Remedies for Cataract in Hindi

नीचे हमने घरेलू नुस्खे बताये है जो मोतियाबिंद में लाभ पंहुचा सकते है.

लहसुन मोतियाबिंद का इलाज | Garlic for Cataract Treatment in Hindi

लहसुन काफी गुणकारी है अगर आप रोजाना लहसुन की 2-4 कलिया खाते है तो इससे आपको धब्बे की शिकायत से छुटकारा मिल जायेगा.

यह भी पढ़ें : लहसुन खाने के फायदे

हरी सब्जियों का सेवन करें | Vegetables for Cataracts in Hindi

सब्जियों में कई प्रकार के पोषव तत्व होते है जो की हमारे शरीर के लिए जरुरी होते है. हरी सब्जियों का सेवन करने से हमारी आँखों को लाभ मिलता है तथा वह स्वस्थ रहती है. आप भी अपनी डाइट में हरी सब्जियों को जरूर शामिल करे.

यह भी पढ़ें : स्वस्थ रहने के लिए करें इन 7 हेल्दी फूड का सेवन

कच्चा पपीता मोतियाबिंद का उपाय | Kacha Papita Motiyabind Ka Ilaj

पपीता स्वास्थ्य के लिए तो अच्छा होता ही है इसके अलावा कच्चा पपीता खाने से उन लोगो को लाभ पहुंच सकता है जो मोतियाबिंद से पीड़ित है.

गाजर का सेवन करें | Gajar Motiyabind Ka Upchar

गाजर खाना तो लगभग सबको ही पसंद है और ये आँखों के लिए भी फायदेमंद है ऐसे में आप चाहे तो गाजर को चबाकर खा सकते है या फिर इसका रस पी सकते है. इसके अलावा आप ग्रीन टी, सलगम, टमाटर, सेब, संतरे आदि का सेवन भी कर सकते है. ये सब Antioxidant का बहुत अच्छा स्रोत है और ये मोतियाबिंद से बचाव करने में मदद करते है.

कम या ज्यादा रोशनी में न पढ़े | Cataract Patients Should Not Read in Low Light or Very Bright Light in Hindi

मोतियाबिंद के मरीज को बहुत ज्यादा या कम रोशनी में पढ़ने से बचना चाहिए. रौशनी में इस तरह बैठें कि रोशनी सीधे आँखों पर न पड़े.

सूर्य की रौशनी से अपनी आँखों को बचाए | Sunglasses Prevent Cataracts in Hindi

हम में से ज्यादातर लोग काम की वजह से दिनभर धुप में रहते है ऐसे में सूर्य की पराबैंगनी किरणों की वजह से मोतियाबिन्द होने का खतर बढ़ सकता है. इसीलिए आपको अपनी आँखों को सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाने के लिए सनग्लासेस का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए. इसके अलावा सुबह-शाम आँखों में ताजे पानी के छींटे जरूर मारे.

मोतियाबिंद के लिए अन्य उपाय | Motiyabind Ka Ilaj Ke Anya Upay

त्रिफला – त्रिफला को पानी में पीसकर पेस्ट बना लीजिये, फिर इसे आँखों पर रखकर पट्टी बाँध ले.

पिसा हुआ धनिया – 1 चम्मच पिसा हुआ धनिया 1 कप पानी में उबालकर छान लीजिये. जब ये ठंडा हो जाये तब इसे आँखों में डेल. ये तरीका मोतियाबिन्द में लाभदायक हो सकता है.

धनिया और सौंफ – धनिया तथा सौंफ को बराबर मात्रा में लेकर इसमें भूरी शक्कर मिला ले. सुबह-शाम 10-10 ग्राम की मात्रा में इसका सेवन करे.

बादाम और काली मिर्च – लगभग छह बादाम तथा सात काली मिर्च को पीस लीजिये, तथा उसमे पानी मिलाकर छलनी से छान लीजिए और मिश्री मिलाकर सेवन करे.

जैसा की हमने आपको ऊपर बताया है कि मोतियाबिंद के शुरुआती समय में ये घरेलू नुस्खे काम कर सकते है, परन्तु मोतियाबिन्द को ज्यादा समय हो गया है तो इसको सर्जरी के द्वारा हटाया जाता है. मोतियाबिंद को ज्यादा समय हो जाने पर डॉक्टर की सलाह जरूर ले.

तो ये थी मोतियाबिंद का इलाज (Treatment of Cataract in Hindi) के ऊपर जानकारी, उम्मीद है आपको पसंद आई होगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*