Sir Dard Ke Liye Yoga | सिर दर्द के लिए करें ये योग

Sir Dard Ke Liye Yoga, Yoga for Headache in Hindi

Sir Dard Ke Liye Yoga | Yoga for Headache in Hindi (सिर दर्द के लिए करें ये योग) – सही जीवनशैली न होने और तनाव में रहने के कारण ज्यादातर लोग सर दर्द से परेशान रहते है. इसके अलावा ज्यादा देर तक लैपटॉप या मोबाइल इस्तेमाल करने के कारण भी सिरदर्द होना एक आम बात है. जिसके कारण कई बार दवाइयों का सेवन करना पड़ता है. ज्यादा दवाइयों का सेवन करने के कारण भी हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है.

कभी-कभी ज्यादा थकान लगने के कारण भी सिर दर्द होने लगता है जो की आम बात है लेकिन अगर ये समस्या लगातार बनी रहती है तो इसका इलाज करना जरुरी है. योग आपको सर दर्द की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है. योग करने के कई फ़ायदे है. योग हमें स्वस्थ रखने में मदद करता है, इसके अलावा ये कई बीमारियों से भी बचाता है. तो चलिए जानते है सिर दर्द के लिए योग.

Sir Dard Ke Liye Yoga, Yoga for Headache in Hindi

सिर दर्द के लिए योग | Sir Dard Ke Liye Yoga | Yoga for Headache in Hindi

शीतली प्राणायाम – शीतली प्राणायाम की मदद से सर दर्द से आराम मितला है. साथ ही साथ ये तनाव दूर कर दिमाग शांत करने में मददगार है. इसको करने के लिए सबसे पहले जमीन पर सुखासन की स्तिथि में बैठे. फिर आप अपनी जीभ को बाहर निकाले और मुंह से गहरी सांस ले फिर अपना मुँह बंद करे और नाक के रास्ते सांस छोड़े. इसको आप दस से बारह बार करे.

यह भी पढ़ें : योग के अद्भुत फायदे

एकपाद शीर्षासन – सबसे पहले जमीन पर चटाई या कम्बल बिछाकर पंजों पर बैठे. उसके बाद अपने सिर के नीचे तकिया रख ले और सिर को झुकाकर जमीन से सटा ले. उसके बाद दोनों हाथों को कोहनियों से मोड़कर सिर के दोनों ओर जमीन पर रखें. फिर अपने हाथों के बल स्थिर होकर पैर ऊपर करके सीधे हो जाये. अब लेफ्ट वाले पैर को घुटने से मोड़कर राइट वाले पैर की जांघ से मिला दे.

यह भी पढ़ें : ये है सिरदर्द होने के मुख्य कारण

अनुलोम विलोम प्राणायाम – इसके बारे में ज्यादातर लोगो ने पहले भी सुना होगा और ये करने में भी काफी आसान है. हर कोई इसे कर सकता है. गैस के कारण होने वाले सिरदर्द में अनुलोम विलोम आपकी मदद कर सकता है. इसे करने के लिए सबसे पहले पद्मासन में बैठें. पहले नाक का दाया नथुना बंद करें व बायें से लंबी सांस लें. फिर बायें को बंद करके, दाएं वाले से लंबी सांस छोडें. अब दाएं वाले से लंबी सांस लें व बायें वाले से उसे छोडें. शुरुआत और अंत भी हमेशा बायें नथुने से ही करनी है.

यह भी पढ़ें : माइग्रेन से छुटकारा पाने के तरीके

माइग्रेन के लिए आसन | Yoga for Migraine in Hindi

हलासन – सबसे पहले लेट जाये. लेटने के बाद दोनों एड़ी और पंजों को आपस में मिला ले. अब आपने अपनी टांगो को धीरे-धीरे ऊपर उठाना है और सांस बाहर निकालते हुए सर की तरफ लाना है. फिर पंजों को जमीन से टिका ले और पूर्व अवस्था में आ जाये.

शशांकासन – इसे करने के लिए सबसे पहले बैठकर दोनों एड़ीं पंजे आपस में मिला लें. फिर हथेलियों को दाईं ओर रखें और पंजो को तान लें. घुटनों को टांगों से मोड़ते हुए वज्रासन की स्थिति में आ जाएं. फिर दोनों घुटनों को दोनों ओर फैला दें तथा दोनों हथेलियों को दोनों घुटनों के मध्य जमीन पर टिका दें. सांस बाहर करते हुए कमर के निचले हिस्से से धीरे-धीरे झुकते जाएं ऐसा करते हुए हथेलियों को आगे खिसकाते रहें. अपनी ठोड़ी को धरती से लगा लें. अब उल्टी क्रिया करते हुए धीरे-धीरे पूर्वावस्था में आ जाएं.

भले ही आपके सर दर्द हो या न हो लेकिन योग को अपने जीवन में जरुर शामिल करे. योग करने के अनेक फायदे है, जिसकी मदद से आप अपने आपको अंदर तथा बाहर दोनों से स्वस्थ रख सकते है. उम्मीद है आपको Sir Dard Ke Liye Yoga | Yoga for Headache in Hindi पर ये जानकारी पसंद आई होगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*