Stop Loose Motion in Hindi | दस्त रोकने के 11 घरेलू उपाय

Stop Loose Motion in Hindi, Dast Ka Ilaj, Diarrhea in Hindi

Stop Loose Motion in Hindi (दस्त रोकने के घरेलू उपाय) – दस्त को डायरिया और लूस मोशन भी कहा जाता है. गलत खानपान के कारण और खाने की अनियमितता के कारण लूस मोशन होते है. इसमें शौच एकदम पतला होता है, और जिसको दस्त मतलब लूस मोशन लगे होते है उसको बार-बार शौच जाना पड़ता है जिसके कारण शरीर में कमजोरी भी आ जाती है.

इसके अलावा आपको पेट में ऐंठन और दर्द भी हो सकता है. आज हम आपको दस्त के कारण, दस्त के लक्षण, दस्त रोकने के घरेलू उपाय (Dast Ke Gharelu Upay) बताएंगे जिनकी मदद से आपको दस्त की समस्या से राहत मिलेगी. How to Stop Loose Motion in Hindi

Stop Loose Motion in Hindi, Dast Ka Ilaj, Diarrhea in Hindi
 

दस्त का इलाज | Stop Loose Motion in Hindi

लूस मोशन के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती है क्यूंकि बार-बार शौच जाने की वजह से आपके शरीर से खाना और पानी बाहर निकल जाता है. वैसे तो दस्त पेट से जुडी एक आम समस्या है, लेकिन दस्त लगने के कारण कई बार हमें बाहर आने जाने में भी परेशानी का सामना करना पड़ता है.

दस्त के कारण | Causes of Loose Motion in Hindi

Dast Hone Ke Karan दस्त कई कारणों की वजह से हो सकते है नीचे हमने दस्त के कारणों के बारे में बताया है.

एंटीबायोटिक दवाओं के कारण भी कई बार दस्त लग जाते है.

फ़ूड इन्फेक्शन.

शराब पीना या ज्यादा बाहर का खाना.

आंतों में ज्यादा द्रव इकट्ठा होने के कारण भी दस्त लग जाते है.

दस्त के लक्षण | Symptoms of Loose Motion in Hindi

Dast Ke Lakshan दस्त के लक्षण निम्न है जैसे

दिन भर में 3-4 बार टॉयलेट जाना

कमजोरी तथा जी मिचलाना

पेट में दर्द और ऐंठन होना

दस्त बंद करने के लिए घरेलू उपचार | Home Remedies for Loose Motion in Hindi

Dast Rokne Ke Upay अब हम आपको बताने वाले है दस्त को कैसे रोके (Dast Ka Ilaj). दस्त लगने पर पानी पीते रहे क्युकी दस्त लगने के कारण हमारे शरीर में पानी की कमी होने लगती है. आप पानी की कमी पूरी करने के लिए ORS के घोल का सेवन भी कर सकते है.

यह भी पढ़ें : मसूड़ों से खून आने के घरेलु उपाय

दस्त के लिए नारियल पानी | Coconut Water for Diarrhea in Hindi

लूस मोशन के कारण हमारे शरीर में पानी तथा ग्लूकोज की कमी हो जाती है. ऐसे में नारियल पानी पीने से शरीर में पानी की कमी नही होती और ये हमें हाइड्रेट रखने में मदद करता है.

यह भी पढ़ें : नारियल तथा इसके पानी के फायदे और नुकसान

दस्त रोकने का उपाय है अदरक | Ginger Dast Ka Gharelu Upchar in Hindi

अदरक एक प्रकार की आयुर्वेदिक औषधि है. अदरक में कई प्रकार के पोषक तत्व मौजूद होते है. अदरक का इस्तेमाल करके पाचन मजबूत होता है. इसके इस्तेमाल से दस्त को रोकने में भी मदद मिलती है. इसके लिए 1 चम्मच सूखी अदरक पाउडर को थोड़े से दालचीनी पाउडर तथा जीरा पाउडर के साथ शहद में मिलाएं तथा इसका सेवन दिन में 3 बार करें. इसके अलावा आप चाहे तो अदरक की चाय का भी इस्तेमाल कर सकते है.

यह भी पढ़ें : अदरक के 8 फायदे

दस्त रोकने का उपाय है दही | Curd Dast Rokne Ke Gharelu Upay in Hindi

दही में पाए जाने वाले बैक्टीरिया, खराब बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते है साथ ही हमारी आंतों को भी स्वस्थ रखते है. दही रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है. इसमें मौजूद अच्छे बैक्टीरिया इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में मदद करते है इसका सेवन करने से अच्छे से भूख लगती है और पाचन क्षमता भी बढ़ती है.

दस्त रोकने के लिए दही का सेवन करना फायदेमंद है. इसके अलावा यदि किसी को पेट में कीड़े होने की शिकायत है तो दही में शहद मिलाकर कुछ दिन इसका सेवन करने से कीड़े मर जाते है.

यह भी पढ़ें : दही खाने के फायदे और नुकसान

केले के सेवन से दस्त करे ठीक | Banana for Loose Motion in Hindi

केले का सेवन करके दस्त से बचा सकता है केले में पाया जाने वाला Pectin Fiber आंतों में तरल पदार्थ का अवशोषण करता है. दस्त होने पर केले का सेवन करना फायदेमंद है. आप चाहें तो दही में केले को मिलाकर भी खा सकते है. इसके अलावा केला खाने से हमारी पाचन क्रिया सही रहती है. केला पचने में आसान होता है और इसे खाने से अपच और गैस की समस्या से छुटकारा मिलता है.

यह भी पढ़ें : केला खाने के फायदे

दस्त के लिए जीरा है फायदेमंद | Cumin for Loose Motion in Hindi

जीरे में पाए जाने वाले एंटीसेप्टिक (Antiseptic) गुण इम्यून सिस्टम (Immune System) को प्रभावित करने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने का कार्य करते है. जीरे की मदद से हमारी पाचन क्रिया सही से काम करती है तथा यह आंतों के इन्फेक्शन को भी दूर करता है. ये क्रोनिक डायरिया (Chronic Diarrhea) को भी ठीक करने में मदद करता है.

यह भी पढ़ें : जौ के फायदे, स्वास्थ्य लाभ और नुकसान

कैमोमाइल टी की मदद से रोके दस्त | Chamomile Tea for Diarrhea in Hindi

एंटी-इन्‍फ्लामेट्री और एंटी-स्पाज्मडिक गुण होते हैं. दस्त से छुटकारा पाने के लिए आप इस चाय का सेवन कर सकते है. इसके अलावा पेट की जलन तथा आंतों में सूजन होने पर भी इस चाय का सेवन करना फायदेमंद है.

यह भी पढ़ें : ग्रीन टी के 7 गजब के फायदे

दस्त से छुटकारा पाने के लिए निम्बू पानी | Lemon Water for Diarrhea in Hindi

नींबू कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स से भरपूर होता है. दस्त को रोकने के लिए नींबू पानी की मदद लेना फायदेमंद साबित हो सकता है. नींबू में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी और अल्मीय गुण आंतों को आराम पहुंचाने में मदद करते है.

यह भी पढ़ें : नींबू के फायदे और नुकसान

मेथी के बीज दस्त के लिए | Dast Rokne Ke Upay Hai Methi in Hindi

मेथी के बीज में मौजूद गुण दस्त का इलाज करने में मददगार है. ये मल को भारी बनाती है जिससे दस्त रुक जाते है. दस मिनट के लिए मेथी के बीजों को पानी में भिगोकर रख दे. उसके बाद इन्हे ग्राइंड कर ले और 1 गिलास पानी में मिलाएं और इसका सेवन करे. आपने दिन में 2 बार इसका सेवन करना है.

यह भी पढ़ें : मसूड़ों से खून आने के घरेलु उपाय

दस्त को रोकने के लिए सेब का सिरका | Seb Ka Sirka Dast Ke Ilaj Ke Liye in Hindi

सेब के सिरके में पेक्टिन पाया जाता है जो दस्त को रोकने में मदद करता है साथ ही ये आंतों को भी आराम पहुंचाता है. सबसे पहले 1 गिलास पानी में सेब के सिरके को मिलाये. उसके बाद इसमें 1 चम्मच शहद मिलाएं और इसका सेवन करे.

यह भी पढ़ें : सेब खाने के फायदे

दस्त के लिए संतरे के छिलके | Santre Ke Chilke Loose Motion Ke Liye in Hindi

संतरे के छिलके पाचन को सही करने में मददगार है. संतरे को धोकर उसके छिलके निकाल ले. उसके बाद लगभग आधे कप पानी में इसके छिलके डालकर उबाले. थोड़ी देर बाद इसमें शहद मिला ले और इसका सेवन करे.

ये थे दस्त को रोकने के घरेलू उपचार (How to Stop Loose Motion in Hindi) इनकी मदद से आपको दस्त से राहत मिलेगी. उम्मीद है दस्त को कैसे रोके (Stop Loose Motion in Hindi) के ऊपर आपको ये जानकारी पसंद आई होगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*