Ebola Causes and Symptoms in Hindi | क्या है इबोला – कारण, लक्षण और बचाव

Ebola Causes and Symptoms in Hindi

Ebola Causes and Symptoms in Hindi (इबोला के कारण, लक्षण और बचाव) – इबोला एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है जिसके होने पर मरीज की मृत्यु होना निश्चित है. 90 प्रतिशत मामलों में जिन लोगो को इबोला हुआ है उन लोगो की मौत हो जाती है. Ebola के लिए अभी तक कोई Medicine नहीं बन पायी है.

1976 में पहली बार इबोला वायरस का पता चला था. और ये बीमारी अफ्रीका में दक्षिणी-पूर्वी गिनी के ग्युक्केदो गाव से फैली है. What is Ebola Virus in Hindi

Ebola Causes and Symptoms in Hindi

इबोला के लक्षण | Symptoms of Ebola in Hindi

Ebola Ke Lakshan जैसे ही इबोला वायरस शरीर में प्रवेश करता है उसके कुछ ही दिनों के अंदर मरीज कमजोर होने लग जाता है, लगातार सिर में दर्द रहता है, बुखार आने लगता है, मांसपेशियों में दर्द रहता है, चक्कर आना, उल्टियां होना, भूख लगना बंद हो जाना, हड्डियों में दर्द आदि इबोला के लक्षण है.

यह भी पढ़ें : एड्स क्या है कारण, लक्षण तथा बचाव

कैसे फैलता है इबोला | How Does Ebola Virus Spread in Hindi

Ebola Virus in Hindi इबोला एक संक्रामक रोग है और यह मरीज के मरने के बाद भी सक्रिय रहता है. उन लोगो को इस बीमारी के होने का खतरा ज्यादा होता है जो अपने मरीज के साथ रहते है और उसकी देखभाल करते है. आमतौर पर इबोला होने की आशंका तब होती है जब कोई व्यक्ति इबोला से संक्रमित व्यक्ति या जानवरों के तरल पदार्थ (जैसे Urine or Saliva) के साथ सीधे संपर्क में आये. या फिर इबोला से प्रभावित इलाके की यात्रा करे. चमगादड़ों को Ebola की सबसे बड़ी वजह माना गया है.

इबोला से बचाव | Prevention of Ebola in Hindi

वैसे तो इबोला को खत्म करने के लिए कोई भी दवाई उब्लब्ध नही है लेकिन इससे बचा जा सकता है. इबोला हवा के जरिए नहीं फैलता है, हवा के जरिये फैलने वाले वायरस ज्यादा खतरनाक होते है. कोई मरीज के स्राव की जगह को छू ले जैसे मुँह, आंख और नाक तब ये फैलता है. इससे बचाव ही इसका इलाज है.

Ebola Causes and Symptoms in Hindi इससे बचने के लिए साफ़-सफाई का ध्यान रखे, अपने हाथों को अच्छी तरह साफ़ करे. साफ़ जगह से ही पानी पिए, इस बीमारी के प्रकोप वाली जगह पर न जाये, इस रोग के लक्षण दिखते ही डॉक्टर से मिले.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*