Calcium Ki Kami Ke Lakshan, Calcium Deficiency Symptoms in Hindi
Symptoms

ये है कैल्शियम की कमी के 10 बड़े लक्षण | Calcium Ki Kami Ke Lakshan

Calcium Ki Kami Ke Lakshan (कैल्शियम की कमी के लक्षण क्या है) – शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सभी पोषक तत्वों को पर्याप्त मात्रा में लेना जरुरी है और कैल्शियम भी उन्हीं में से एक है. हमारी बॉडी के अलग-अलग हिस्सों में कैल्शियम की अलग मात्रा होती है. दांतो और हड्डियों में लगभग 99% कैल्शियम पाया जाता है. लेकिन कैल्शियम हमारी एक-एक कोशिका के लिए जरूरी है जैसे नर्व्स, ब्लड, मसल्स और हार्ट के लिए. कैल्शियम की कमी के कारण बहुत सी बीमारियां हो सकती है. नीचे हमने कैल्शियम की कमी के लक्षणों (Calcium Deficiency Symptoms in Hindi) के बारे में बताया है.

Calcium Ki Kami Ke Lakshan, Calcium Deficiency Symptoms in Hindi

कैल्शियम की कमी के लक्षण | Calcium Ki Kami Ke Lakshan

हड्डियां कमजोर होना कैल्शियम की कमी का लक्षण – यदि बॉडी में कैल्शियम की मात्रा कम हो जाये तो हड्डियां कमजोर होने लगती है. साथ ही पूरे शरीर में दर्द होने लगता है. अगर आपको भी ऐसी ही समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो इसे अनदेखा न करे.

यह भी पढ़ें : कैल्शियम की कमी दूर करेंगे ये 7 आहार

ऑस्टियोपेनिया और ऑस्टियोपोरोसिस – कैल्शियम की कमी की वजह से ऑस्टियोपेनिया और ऑस्टियोपोरोसिस हो सकता है. ऑस्टियोपेनिया में हड्डियों की मिनरल डेंसिटी कम हो जाती है और इस कारण ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा बढ़ जाता है.

ऑस्टियोपोरोसिस एक बीमारी है, जिसमें हड्डियों का घनत्व कम हो जाता है. बोन्स इतनी कमजोर तथा भंगुर हो जाती हैं कि गिरने, झुकने या खांसने- छींकने से भी बोन्स में फ्रैक्चर होने का खतरा होता है.

मासिक धर्म में दर्द – जिन महिलाओं में कैल्शियम की मात्रा कम होती है, उन्हें मासिक धर्म के समय दर्द होता है. इसके अलावा मासिक धर्म देर से आना भी कैल्शियम की कमी का संकेत हो सकता है.

मांसपेशियों में दिक्कत – मांसपेशियों में ऐंठन और दर्द कैल्शियम की कमी के संकेत हो सकते है. चलते समय या फिर कोई भी मूवमेंट करते समय हाथों और जांघों में दर्द का अनुभव हो सकता है.

कैल्शियम की कमी के कारण दांत दर्द – कैल्शियम की कमी होने का असर सबसे पहले दांतो में दिखाई देता है. जब बॉडी में कैल्शियम की मात्रा कम होती है तब बॉडी कैल्शियम की पूर्ति हड्डियों और दांतो से कर सकती है. इस कारण दांतों की समस्या होती है जैसे दांतो की सड़न और कमजोर दांत आदि. यदि बच्चो को बचपन में कैल्शियम की कमी हो जाती है तो दांतो का निर्माण देर से होता है.

यह भी पढ़ें : दांत दर्द दूर करने के तरीके

थकान – अगर थोड़ा सा काम करने में या चलने के बाद थकान लगने लगे तो ये कैल्शियम की कमी हो सकती है. बॉडी में कैल्शियम की मात्रा कम होने की वजह से डर लगना, चिंता रहना और अनिद्रा जैसे कुछ लक्षण भी दिखाई देते है.

कमजोर नाखून – कैल्शियम की कमी के कारण बार-बार नाखून टूटने की समस्या भी हो सकती है. नाखूनों को बढ़ने के लिए कैल्शियम जरुरी है. कैल्शियम की मात्रा सही न होने की वजह से नाखून कमजोर पड़ जाते है और टूटने लगते है.

त्वचा पर असर – कैल्शियम की कमी से त्वचा भी प्रभावित हो सकती है. त्वचा रूखी और लाल हो सकती है.

बालों का झड़ना हो सकता है कैल्शियम की कमी का लक्षण – बालों के विकास के लिए कैल्शियम जरूरी है. कैल्शियम की कमी के कारण बाल झड़ते है और रूखे होते है.

दिल की धड़कन का बढ़ना – हमारा दिल सही तरीके से कार्य करे इसके लिए कैल्शियम जरूरी है. कैल्शियम की कमी होने के कारण दिल की धड़कन बढ़ सकती है. जिस वजह से बेचैनी महसूस होती है.

admin
myhealthhindi.com पर दी हुई संपूर्ण जानकारी केवल पाठकों की जानकारी के लिए दी गयी हैं। इस स्वास्थ्य से सम्बंधित ब्लॉग का उद्देश आपको स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और स्वास्थ्य से जुडी जानकारी प्रदान करना हैं। हमारा आपसे निवेदन हैं की किसी भी सलाह को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *