Andkosh Me Dard in Hindi, Testicle Pain in Hindi
Diseases

जानिए अंडकोष में दर्द के कारण | Andkosh Me Dard in Hindi

Andkosh Me Dard in Hindi (अंडकोष में दर्द के कारण) – टेस्टिकल्स का दर्द होने के पीछे कई कारण हो सकते है. यदि इसका सही समय पर इलाज न किया जाय तो अंडकोष खराब हो सकता है. अंडकोष की नसों में दर्द हो या अंडकोष में दर्द हो वह खतरनाक होता है. बहुत बार अंडकोष में सूजन के कारण दर्द होता है. बहुत बार तो यह किसी गंभीर बीमारी के कारण भी दर्द करता है. कई बार अंडकोष में सूजन और दर्द एक साथ होता है. कुछ लोगों को चोट लगने की वजह से भी टेस्टिकल्स में दर्द होता है. यदि पहले कभी चोट लगी है तो भी अंडकोष में दर्द की समस्या हो सकती है. चलिए जानते हैं अंडकोष में किन कारणों से दर्द हो सकता है. Testicle Problem in Hindi

Andkosh Me Dard in Hindi, Testicle Pain in Hindi

अंडकोष में दर्द के कारण | Andkosh Me Dard in Hindi

चोट – टेस्टिस संवेदनशील अंग होता है, इसलिए इसमें हल्की चोट भी बड़ी समस्या बन सकती है. टेस्टिस में पुरानी चोट भी उभर कर सामने आ सकती है. यदि टेस्टिस में चोट के कारण दर्द है तो इसका जल्द इलाज कराना चाहिए. घरेलू उपाय के भरोसे न रहें.

यह भी पढ़ें : जानिए अंडकोष के बढ़ने के कारण और उपचार

ओरचीटिस – टेस्टिकल में होने वाली यह समस्या भी गंभीर होती है. इसका मुख्य कारण वायरल या बैक्टीरियल इंफेक्शन है. इसमें जलन और दर्द होता है, इसके कारण अंडकोष में सूजन और दर्द होता है.

एपीडिड्यमिटिस – इस समस्या में टेस्टिकल्स की नसों में दर्द और जलन होती है. इसकी वजह चोट या बैक्टीरिया का इंफेक्शन हो सकता है.

ग्रोइन हर्निया – छोटी आंत का कुछ हिस्सा जब नीचे की तरफ आता है तो वह अंडकोष में प्रेशर बनाता है जिसके कारण भी दर्द हो सकता है. इसे ग्रोइन हर्निया भी कहते है, इसके कारण अंडकोष में तेज दर्द और सूजन हो सकती है. अधिकतर भारी सामन उठाने के कारण ऐसा हो सकता है.

myhealthhindi
myhealthhindi.com पर दी हुई संपूर्ण जानकारी केवल पाठकों की जानकारी के लिए दी गयी हैं। इस स्वास्थ्य से सम्बंधित ब्लॉग का उद्देश आपको स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और स्वास्थ्य से जुडी जानकारी प्रदान करना हैं। हमारा आपसे निवेदन हैं की किसी भी सलाह को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *